Free Recharge App

ग्रीन टी कैसे बनाए और उसके फायदे – जानकारी हिन्दी में


  • Free Recharge on Mobile - Download Now
Free Mobile Recharge Kaise Kare
ग्रीन टी, कैसे, बनाए, फायदे, जानकारी, हिन्दी, Green tea recipe
ग्रीन टी कैसे बनाए और उसके फायदे

ग्रीन टी कैसे बनाए

क्या है ग्रीन टी

आज हम सीखेंगे की घर पर ग्रीन टी कैसे बनाए. इसकी विधि शेयर करेंगे जिससे आप भी इसे आसानी से बनाकर तैयार कर सके तो आइए आज हम स्वादिष्ट और पौष्टिक ग्रीन टी बनाएंगे. ग्रीन टी का आविष्कार चाइना में हुआ था. ग्रीन टी एक तरह की चाय होती है जिसका स्वाद सामान्य चाय से कुछ अलग होता है. ये जिस पौधे से बनाई जाती है उसकी पत्तियों में अनेक महत्वपूर्ण तत्व होते हैं. इसमें कफ्फिने जैसे पदार्थ की मात्रा भी सामान्य चाय और कॉफी की तुलना में बहुत कम होती है जिससे हमारे शरीर पर बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है. इस प्रकार ग्रीन टी हमारे स्वास्थ को पूरी तरह से सुरक्षित रखती है. आइए जाने की ग्रीन टी कैसे बनाए डीटेल में.

ग्रीन टी बनाने की सामग्री

1. ग्रीन टी -1 चम्मच.

2. पानी –आधा कप.

3. इलायची पाउडर -1-2 पिंच.

4. चीनी या शहद -1 चम्मच या फिर स्वाद अनुसार.

ग्रीन टी कैसे बनाएविधि

ग्रीन-टी के लिए सबसे पहले एक पेन में पानी डालकर गरम करने के लिए गैस पर रखे. जब पानी मे उबाल आ जाए तब उबलते हुए पानी में ग्रीन-टी डालकर गैस बंद कर दे और पानी को एक प्लेट से ढक कर रख दे. जिससे ग्रीन-टी पाउडर फ्लेवर पानी मे अच्छी तरह से आ जाए. करीब 2 मिनट के बाद ग्रीन-टी को एक छानी की छानी की सहायता से एक कप मे छानकर निकाल ले और अब इस छानी हुई चाय में अपने स्वाद के अनुसार चीनी या फिर शहद और इलायची पाउडर डालकर चम्मच से अच्छी तरह से मिक्स कर ले. स्वादिष्ट और पौष्टिक ग्रीन-टी बनकर तैयार है. आप ग्रीन-टी को हल्का गुनगुना या फिर ठंडा करके सर्विंग कप में निकालकर सर्व कर दे. ग्रीन टी एंटीऑक्सीडेंट्स की तरह काम करती है.

ग्रीन टी बैग से चाय बनाने की विधि – इसे बनाने के लिए 1 कप पानी लीजिए. उसमे 1 ग्रीन टी बैग डाल दे. इसमें ही 2 तुलसी पत्ती डालें. 1 चम्मच शहद डालें और आधा नीबू रस डालें. अब आइसे 3-4 मिनट उबालें. आपकी चाय तैयार है.

ग्रीन टी पाउडर से चाय बनाने की विधि – 1 कप पानी लीजिए. इसमे ½ चम्मच ग्रीन टी पाउडर डालिए. 1 चम्मच शहद डालिए और आधा नींबू का रस डालिए. अब इसे 3-4 मिनिट उबालें. आपकी चाय तैयार है. चाय उबलने के बाद आप 1 मिनट उसे रख दीजिए. उसके बाद चाय पिएं. यह चाय आपके स्वास्थ के लिए सबसे अच्छी होगी.

ग्रीन टी के अद्भुत फायदे

वजन कम करने में

ग्रीन टी शरीर की रासायनिक क्रियाओं को बढ़ाती है. ग्रीन टी में पाया जाने वाला पॉल फिनोल तत्व वासा के आक्सीमोरण की प्रक्रिया को बढ़ा देता है जिससे हमारा भोजन जल्दी ही उर्जा में परिवर्तित हो जाता है और वासा बनकर जमता नहीं है. इस प्रकार शरीर में वासा की मात्रा कम हो जाती है और वजन कम होने लगता है.

पेट की बीमारी को ठीक करने में

ग्रीन टी पीने से पेट की बीमारियां जैसे अपच, कब्ज आदि दूर हो जाती है. इसके साथ ही ग्रीन टी लिवर की बीमारियों को भी दूर करती है. ग्रीन टी पीने से ही एसिडिटी भी ठीक हो जाती है.

हृदय रोग को कम करने में

प्रतिदिन कम से कम 6 कप ग्रीन टी लेने से हृदय रोग होने की संभावना कम होती है. ग्रीन टी शरीर के कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करती है. कोलेस्ट्रॉल के कम हो जाने से शरीर में रक्त संचारण बहुत अच्छी तरह से होता है और हृदय रोग ठीक हो जाता है.

  • Free Recharge on Mobile - Download Now
Free Mobile Recharge Kaise Kare

उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में

यदि आप उच्च रक्तचाप यानी हाइ ब्लड प्रेशर के मरीज है तो रोज दो कप ग्रीन टी पीना आपके रक्तचाप को नियंत्रित कर सकता है. ग्रीन टी में कुछ ऐसे तत्व होते है जो शरीर में उच्च रक्तचाप की प्रवृति को कम करते हैं तथा आपका रक्तचाप नियंत्रित हो जाता है. इस से आपके दिल को मजबूती मिलती है.

डायबिटीज को नियंत्रित करने में

ग्रीन टी पीने से शरीर में ग्लूकोस की मात्रा भी नियंत्रित होती है. शरीर में ग्लूकोस की मात्रा कम हो जाने से डायबिटीज के रोगियों को लाभ होता है. इस प्रकार ग्रीन टी डायबिटीज में बहुत लाभदायक है.

एलर्जी को दूर करने में

कई बार हम एलर्जी का शिकार हो जाते हैं और किसी विशेष चीज से हमें एलर्जी हो जाती है. जैसे धूल से, रसायन से या दवाई से एलर्जी. ग्रीन टी पीने से एलर्जी की बीमारी में आराम मिलता है. ग्रीन टी में एक तत्व (epigallocatechin) होता है जो एलर्जी से हमारी रक्षा करता है.

दांतों और मसूड़ों की रक्षा में

कई बार हमारे दांतों और मसूड़ों में इन्फेक्शन हो जाता है जिससे मसूड़े फूलने लगते हैं. ग्रीन टी पीने से मसूड़ों के फूलने की समस्या दूर हो जाती है. ग्रीन टी पीने से आँखों की रोशनी भी बढ़ती है.

संक्रामक रोगों से रक्षा करती है

ग्रीन टी हमारे प्रतिरक्षण तन्त्र को मजबूत कर संक्रामक रोगों से हमारी रक्षा करती है. ग्रीन टी पीने वालों को सर्दी, खांसी, जुकाम, फ्लू नहीं होता है. इसके साथ ही ग्रीन टी पीने से त्वचा संबंधित रोगों से भी छुटकारा मिलता है.

स्फूर्ति प्रदान करने में

ग्रीन टी पीने से दिमाग स्फूर्ति महसूस करता है. ग्रीन टी पीने से तनाव दूर हो जाता है. सिर दर्द जैसी समस्या ग्रीन टी पीने से ठीक होती है. ग्रीन टी नेवस सिस्टम को भी मजबूत करती है.

एक्सरसाइज और वर्कआउट से भी आपको लग रहा है की आपका वजन कम नहीं हो रहा है, तो आप दिन मे ग्रीन-टी पीना शुरू करे. ग्रीन-टी में एंटीऑक्सीडेंट होने की वजह से यह बॉडी के फैट को खत्म कर देती है. एक स्टडी के कथन के अनुसार, ग्रीन-टी बॉडी के वजन को स्थिर रखती है. ग्रीन-टी से फैट ही नहीं बल्कि मेटाबॉलिज्म भी स्ट्रांग रहता है और डाइजेस्टिव सिस्टम की परेशानिया भी खत्म हो जाती है. यह मोटापा कम करने के लिए काफी लाभदायक सिद्ध होता है. इसलिए ग्रीन-टी को रोजाना कम से कम एक बार अपनी दिनचर्या मे जरूर शामिल कर ले.  

बॉडी के लिए स्वास्थ्य वर्धक

फ्रेश तैयार हरी चाय शरीर के लिए अच्छी तरह और स्वास्थ्य वर्धक होती है. आप इसे या तो गर्म या ठंडा करके पी सकते है, लेकिन इस बात का यकीन हो की चाय एक घंटे से अधिक समय की पुरानी ना हो. ज्यादा खोली गरम चाय गले के कैंसर का न्योता भी दे सकती है. तो बेहद गर्म चाय ना पिएं. यदि आप चाय को लंबी समय के लिए स्टोर कर के रखेंगे तो यह अपने विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट खो देगी. इसमे मौजूद जीवाणुरोधी गुण भी समय के साथ कम हो जाते है. वास्तव मे, अगर चाय ज्यादा देर के लिए रखी हो तो यह बैक्टीरिया को शरण मतलब जगह दे देती है. इसलिए हमेशा ताजी ग्रीन-टी ही पिएं.

तो कैसा लगा आपको ग्रीन टी कैसे बनाए ये आज का ये लेखन? उम्मीद है कि अच्छा ही लगा होगा.

Related Posts –

What's Your Reaction?

Love It Love It
2
Love It
Like It Like It
2
Like It

ग्रीन टी कैसे बनाए और उसके फायदे – जानकारी हिन्दी में

log in

reset password

Back to
log in