कंप्यूटर की जानकारी – संगणक कैसे चलाए जानकरी हिंदी मे


कंप्यूटर की जानकारी - संगणक कैसे चलाए जानकरी हिंदी मे

कंप्यूटर की जानकारी – संगणक कैसे चलाए जानकरी हिंदी मे

कंप्यूटर की जानकारी – संगणक चलाने की जानकरी

कंप्यूटर (Computer) की जानकारी – संगणक कैसे चलाए. आजकल का जमाना कंप्यूटर का जमाना कहलाया जाता है. कंप्यूटर की जानकारी जिसको है उसी को माना जाता हे. कंप्यूटर का महत्त्व आज कल बोहोत बढ़ गया है. अभी हर किसि को कंप्यूटर की बेसिक (basic) चीज़े आनी चाहिए. हर क्षेत्र (Field) मे अभी कंप्यूटर का उपयोग बढ़ गया है. जिसे कंप्यूटर चलना नही आता वो निरक्षर कहलाया जाता हे. तो फिर चलो, जानते है कुछ चीज़े कंप्यूटर के बारे मे. जानते हे बेसिक कंप्यूटर क्या होता है और उसे कैसे इस्तेमाल करते है. कंप्यूटर की जानकारी. कंप्यूटर की जानकारी – संगणक कैसे चलाए जानकरी हिंदी मे.

कंप्यूटर क्या है

कंप्यूटर एक यंत्र हे. इंग्लीश मे उसे डिवाइस (device) कहते हे, एलेक्ट्रॉनिक डिवाइस. जिसको हमे कुछ डाटा देना पड़ता हे. मतलब शुरूवात मे कंप्यूटर सिर्फ़ एक ब्लॅंक डिवाइस रहता हे. हमे उसमे जानकारी स्टोर (store) करनी पड़ती है. उसके बाद वो चालू करने के बाद हमारे दिए गये निर्देशोके (Instructions) के अनुसार वो हमे स्टोर किया हुआ डाटा जिसे हम इन्फर्मेशन (information) कहते हे. वो हमे बताता हे.

कंप्यूटर मे प्रोग्रॅम्स (programs) होते हे. जो ये डाटा को इन्फर्मेशन मे बदलता हे और हमे भेजता है. जिन निर्देशो के अनुसार ये कंप्यूटर काम करता है उसे प्रोग्राम कहते है. हिन्दी मे कंप्यूटर को संगणक भी कहा जाता हे. इंग्लीश मे कई लोग उसे PC भी कहते हे. PC मतलब पर्सनल कंप्यूटर (personal computer) यानी व्यक्तिगत कंप्यूटर. पर्सनल कंप्यूटर एक बंदा ही उसे कर सकता है. आपने shared कंप्यूटर भी सुना होगा. इस प्रकार मे एक ही कंप्यूटर पर एक से जाड़ा लोग कम कर स्केट हे. कंप्यूटर की जानकारी – संगणक कैसे चलाए कंप्यूटर कैसे चलाए. कंप्यूटर की जानकारी – संगणक कैसे चलाए जानकरी.

डाटा क्या हे

आपने डाटा शब्द बोहोट बार सुना होगा, कंप्यूटर के क्षेत्रा मे ये विभिन्ना प्रकार मे प्रयुक्त होता हे. जिस पर प्रक्रिया करने से अर्थपूर्ण सूचना प्राप्त होती हे. डाटा को रॉ (raw) डाटा भी कहा जाता हे. जिसका मतलब हे जिसपर कोई प्रक्रिया नही की गयी हो. डाटा अलग अलग रूप मे हमारे कंप्यूटर पर रहता हे. जैसे की इमेजस (images), फोटोस (photos), वीडियोस (videos), गाने (songs), फाइल (file), डॉक्युमेंट्स (Documents). रॉ डाटा पर प्रक्रिया करने के बाद उसको इन्फर्मेशन मे बदला जाता हे.

प्रक्रिया क्या है

डाटा जैसे अक्षर, अंक, संख्या, या किसी इमेज, वीडियो को सुव्यवस्थित करने की उनकी गणना को प्रक्रिया कहते हे. किसी भी डाटा को अर्थपूर्ण जानकारी मे बदलने के लिए उसे प्रक्रिया से गुज़रना ज़रूरी हे. उसके बाद उसका इन्फर्मेशन मे रूपांतर होता हे. कंप्यूटर की जानकारी.

गणना और तुलना क्या हे

जोड़ना, घटना, गुना करना और भाग देना या फिर औसत करना ये सारी चीज़े गणना मे आती हे. कंप्यूटर मे एक विभाग होता हे इस गणन क्रिया के लिए उसे CPU (Central Processing Unit) कहा जाता हे. ये कार्य decision मेकिंग मे भी आता है. कंप्यूटर मनुष्या से काफ़ी तेज हे क्यो की, कंप्यूटर की कॅल्क्युलेशन पवर बोहोत तेज होती है.

निर्णय लेना डिसिशन मेकिंग

कंप्यूटर हमारे दिए गये सूचना के आधार पर अपने आप डिसिशन लेता हे की इस सूचना पर क्या ऑपरेशन करना हे. कंप्यूटर शर्त और तर्क के आधार पर ये निर्णय लेता हे. सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट के ज़रिए सारे निर्णय लिए जाते हे. कंप्यूटर का कार्य इनपुट डिवाइसस से मिली सूचनाओ के आधार पर चलता हे. इनपुट डिवाइस मे माउस (mouse), कीबोर्ड (Keyboard), स्कॅनर (scanner) इन सबाही चीज़ो का समावेश होता है. डिसिशन लेने के बाद उन सिग्नल्स को हम आउटपुट डिवाइसस पर देखते है. जैसे की मॉनिटर (moniter), प्रिंटर (printer).

लॉजिक तर्क

आवश्यक परिणाम को प्राप्त करने के लिए पदो के क्रम को लॉजिक (logic) कहा जाता हे. प्रक्रिया केवल अंक और संख्या की गणना को ही नही कहते. बल्कि कंप्यूटर की सहयता से दस्तावेज़ी मे तृटीया ढूँढना, प्रोब्लेम को व्यवस्थित करना जैसे कई काम भी लॉजिक विभाग मे आते हे. इस विभाग को इंग्लीश मे Arithmetical and Logical यूनिट कहते है. इस यूनिट से सारे फंक्शण मेमोरी यूनिट से जुड़े होते है. जहा से कुछ देर के लिए सेव की हुआ डाटा का इस्तेमाल करके वो तर्क लगाके अपने डिसिशन्स लेता है. ये यूनिट भी डिसिशन लेने वेल यूनिट से जुड़ा होता है. कंप्यूटर की जानकारी – संगणक कैसे चलाए जानकरी.

इनपुट डिवाइस

कंप्यूटर को सूचना देने के लिए हमे इनपुट डिवाइस की आवश्यकता होती है. बोहोत सारे डिवाइस हे जिनसे हम कंप्यूटर को निर्देशोके (Instructions) दे सकते है.

  • Keyboard
  • Mouse
  • Joy Stick
  • Light pen
  • Track Ball
  • Scanner
  • Graphic Tablet
  • Microphone
  • Magnetic Ink Card Reader(MICR)
  • Optical Character Reader(OCR)
  • Bar Code Reader
  • Optical Mark Reader(OMR)

आउटपुट डिवाइस

कंप्यूटर से प्राप्त की हुई इन्फर्मेशन को यूज़र (user) को बताने के लिए या रेप्रेज़ेंट करने के लिए आउटपुट डिवाइस उसे होता है. हम अपनी सारी जानकारी कंप्यूटर के स्क्रीन पर देखते है, वो एक आउटपुट डिवाइस है.

  • Monitors
  • Graphic Plotter
  • Printer
  • Projectors
  • Speakers
  • Headphones
  • Punched card input/output
  • Punched tape
  • Voice output communication aid
  • Automotive navigation system
  • Braille embosser
  • Video
  • Plotter
  • Wireless

Computer Ka Speed Fast Kaise Kare 5 Tarike.

Easy Life Tricks
Sponsored Channel
Mr Hindi Indian Youtube Channel