बैडमिंटन कैसे खेले – नियम और टिप्स की जानकारी हिंदी मे


बैडमिंटन कैसे खेले - नियम और टिप्स की जानकारी हिंदी मे
बैडमिंटन कैसे खेले – नियम और टिप्स की जानकारी हिंदी मे

आज हम जानेंगे बैडमिंटन कैसे खेले. बैडमिंटन रैकेट से खेला जाने वाला एक अंतरराष्ट्रीय (इंटरनेशनल ) खेल है. बैडमिंटन उत्साह और रोमांच का खेल है. क्यूंकि एक छोटी से चिड़िया या शटलकॉक एक मैच में जीत या हार के बिंदु के लिए महत्त्वपूर्ण मानी जाती है. ब्रिटिश छावनी शहर पुणे में यह खेल खासतौर पर लोकप्रिय रहा. इसलिए इस खेल को पूना अथवा पुनई के नाम से भी जाना जाता है. बैडमिंटन का खेल एक बहुत ही मज़ेदार और इंटरेस्टिंग खेल हैं. यह खेल सिर्फ हमारे इंडिया में ही नहीं बल्कि पूरे वर्ल्ड में काफी महत्व है. बहुत लोग ऐसे हैं जिनका बैडमिंटन ही सपना हैं और सुख भी बैडमिंटन ही हैं.

पढ़िए – कबड्डी कैसे खेले

बैडमिंटन कैसे खेले

वैसे भी जब सर्दी का मौसम आता है तब हल्की हल्की धूप मैं हम सब बैडमिंटन खेलना बहुत पसंद करते हैं. सर्दी की रात मैं भी बहुत रात तक बहुत लोग ग्रूप बनाकर बॅडमिंटन खेलते हैं. बैडमिंटन का खेल खेलने में भी बहुत ज्यादा मज़ा आता हैं और अगर कुछ लोग बॅडमिंटन खेल रहे हैं तो दूर खड़े होकर उससे देखने मैं भी काफ़ी मज़ा आता हैं. लेकिन बैडमिंटन खेलने के लिए और बैडमिंटन के खेल का पूरी तरह से लुप्त उत्थान के लिए हमारा यह जान लेना बहुत ज्यादा जरूरी हैं की बैडमिंटन का खेल एक्चुअली मैं खेला कैसे जाता हैं और बैडमिंटन खेलने के कौन कौन से तरीके हैं. तो चलिए जानें बॅडमिंटन कैसे खेले -जानकारी और नियम .

बैडमिंटन कैसे खेले

आज हम अपने इस लेख के जानिए आप लोगो को यह बताना चाहते हैं की बैडमिंटन का खेल आक्च्युयली में खेला कैसे जाता हैं और बैडमिंटन खेलने के कौन कौन से रूल हैं. अगर आप लोग भी बैडमिंटन का खेल खेलना चाहते हैं और बैडमिंटन के खेल का पूरा पूरा लुप्त उत्थान चाहते हैं. तो आप लोग हमारे इस लेख को ध्यान से पढ़िए ३२ और आसान तरीकों को फॉलो करिए.

हमें पूरी उम्मीद है कि इस लेख को पढ़ने के बाद और इस लेख में दिए गये कुच्छ ट्रिक्स को फॉलो करने के बाद आप लोगो को बैडमिंटन खेलना बहुत अच्छी तरह से आ जाएगा. और बहुत जल्द आप लोग बैडमिंटन खेलने में माहिर हो जाएँगे. और जब आप लोगो को बैडमिंटन खेलना बहुत अच्छी तरह से आ जाएगा तब आप लोग बिना किसी के आगे एंबॅरास्ड हुए बॅडमिंटन खेल पाएंगे और बॅडमिंटन के खेल के साथ आप लोग अपनी सर्दी को फुल एंजाय कर पाएँगे.

बैडमिंटन तीन प्रकार से खेला जाता है.

  1. आँसेल बैडमिंटन
  2. युगल बैडमिंटन
  3. मिश्रित युगलबैडमिंटन

बैडमिंटन खेलने के कुच्छ तरीके

हमेशा अपना ध्यान अपने टारगेट के ऊपर रखे

आप जब भी बैडमिंटन खेलने के लिए मैदान में हो तब आप हमेशा अपना ध्यान अपने टारगेट के ऊपर ही रखे क्योंकि अगर आप लोग एक बार के लिए भी अपने ध्यान से भटके तो उस समय आपका टारगेट चूक जाएगा और आपका स्कोर कट जाएगा. इसलिए आप हमेशा अपना ध्यान अपने टारगेट के ऊपर ही रखे.

शटर के सेंटर में हिट करे

आप हमेशा शटर के सेंटर में ही हिट करे. हम जानते हैं कि आपको यह करना एक बार मैं ही नहीं आ जाएगा. इसके लिए आपको काफ़ी प्रॅक्टीस की जरूरत पड़ेगी लेकिन एक बार आप इस खेल में पक्के खिलाड़ी बन गये फिर आप लोगो के लिए यह करना बहुत ज्यादा आसान हो जाएगा.

अपने प्रतिद्वंदी को दाए बाए का चक्कर लगवाए

आपको अगर बॅडमिंटन के मैच को जीतना है तो आपको अपने प्रतिद्वंदी को तकना होगा. इश्स के लिए आप शटर को उल्टी ओर हिट करे. एसा करने से आपके प्रतिद्वंदी को उस शटर को दोबारा हिट करने के लिए दूसरी ओर भागना होगा और इसी चक्कर में वो थक जाएगा और उसका निशाना भी बार बार चूकेगा.

टॉस

खेल प्रारंभ होने से पहले दोनो पक्षों द्वारा टॉस किया जाता है. टॉस जीतने वाला पक्ष निम्नलिखित का चुनाव करेगा.

  1. पहले सर्विस करना
  2. पहले सर्विस ना करना
  3. दिशा का चुनाव करना

शेष बातें का चुनाव टॉस हारने वाला पक्ष करेगा.

पिच का विस्तार और नियम

इन तीन खेलों के लिए बॅडमिंटन कोर्ट की नाप 11/2 (4 सेन्टीमेटेर ) सफेद रंग या लाल रंग की रेखाओं से स्पष्ट की जाती है. युगल खेल के लिए कोर्ट का आकर 44 फुट * 20 फुट तथा एकल खेल के लिए 44 फुट * 17 फुट होता है. नेट के दोनों और 61/2 फुट शर्त सर्विस रेखा खींची जाती है. कोर्ट को दो समान भागों में बाँटने के लिए साइड लाइन के समांतर एक रेखा खींची जाती है. कोर्ट का बयान आधा भाग बाएं सर्विस कोर्ट औरा बाया आधा भाग दायीं सर्विस कोर्ट कहलाता है. पीछे की गॅलरी 21/2 फुट तथा साइड गॅलरी 11/2 फुट होती है.

युगल खेल के लिए बॅडमिंटन कोर्ट का आकर44 जे 20
एकल खेल के लिए बॅडमिंटन कोर्ट का आकर44 जे 17
जाल की छोड़ाई2 फुट 6 इंच
केन्द्रा मे जाल की भूमि से उँचाई5 फुट
बालियान पर जाल की ऊंचाई5 फुट 1 इंच
शटलकॉक का वजन4. 73 ग्राम से 5. 50 ग्राम
शटलकॉक के पंखों की लंबाई21/2 से 23/4
शटलकॉक के पंखों की संख्या14 से 16
युगल खेल मे आँखों की संख्या15 या 21 अंक
महियाओं के एकल खेल में अंक11 अंक

अगर आप सोच रहे है कि बैडमिंटन कैसे खेले तोह बैडमिंटन खेल को एक साथ 2 या 4 खिलाड़ी खेल सकता है. आयातकार के अनुसार खेल के मैदान के बीचों बीच एक जाल द्वारा दो बराबर भागों में बाटा जाता है.

प्रत्येक छोर पर खड़ा खिलाड़ी अपने रैकेट से शटलकॉक को मैदान के दूसरे और खड़े खिलाड़ी की और मारता है. दूसरी और खड़े खिलाड़ी को कॉक के बिना जमीन स्पर्श किए विरोधी खिलाड़ी की और मारना होता है.

यदि कॉक किसी भी खिलाड़ी के पाले मे या जाल मे उलझ जाती है तो विरोधी खिलाड़ी को अंक प्रदान किया जाता है. इस खेल मे 14 अंक के तीन राउंड होते है. जो खिलाड़ी तीन मे से दो राउंड जीतने में सफल होते है उसे विजेता घोषित कर दिया जाता है.

खिलाड़ी

बैडमिंटन के युगल खेल के प्रत्येक पक्ष में 2 खिलाड़ी तथा एकल खेल के प्रत्येक पक्ष मे 1 खिलाड़ी होता है. मिश्रित युगल में प्रत्येक पक्ष मे 1 महिला और 1 पुरुष होता है. खेल के शुरू मे जो टीम पहले सर्विस करेंगी इस टीम को साइड और विरोधी टीम की साइड को आउट साइड कहते है.

उपर दिए गये लेख को पढ़ने के बाद आप लोग इतना तो समझ ही चुके होंगे कि बैडमिंटन कैसे खेले और इस खेल को खेलने के लिए हमे किन किन रूल्स को फॉलो करने की जरूरत है. अगर कुछ बातों को अच्छी तरह से ध्यान रखा जाए तो बैडमिंटन का खेल इतना भी मुश्किल नही हैं और इस्स को खेलना बहुत ही आसान हैं. तो फिर से एक बार हम आप लोगों से यह रिक्वेस्ट करते हैं की आप लोग हमारे लेख को ध्यान से पढ़िए और इस लेख में दिए गये कुच्छ ट्रिक्स को फॉलो करिए.

यकीन मानिए इन ट्रिक्स को फॉलो करने के बाद आप लोगो को बैडमिंटन खेलना बहुत अच्छी तरह से आ जाएगा और बहुत लोगों की भीर में आप लोग बैडमिंटन के खेल में अपनी परफॉर्मेंस के द्वारा अपना गुण और काबिलियत सबके सामने प्रकाशित करने में ज़रूर सफल हो जाएंगे.

What's Your Reaction?

Love It Love It
0
Love It
Like It Like It
0
Like It

बैडमिंटन कैसे खेले – नियम और टिप्स की जानकारी हिंदी मे

log in

reset password

Back to
log in